क्या मैं तुमको याद करूँगा

तुम्हें भुला न पाता नटवर ,क्या मैं तुमको याद करूँगा  !

मेरी हर आशा में हो तुम ,सांसों में तुम धड़कन में तुम ,

ओठों पर तुम गीतों में तुम ,मेरे हर क्षण में तुम ही तुम |

नहीं जब कभी दूर जा सका ,तुमको क्या आवाज़ मैं दूँगा  !

तुम्हें भुला न पाता प्रभुवर ,क्या मैं तुमको याद करूँगा !

देखो इन नज़रों में हो तुम ,मेरी इन गीतों में हो तुम ,

सुर में और तानों में हो तुम ,ख्वाबों और ख्यालों में तुम |

भुला सका न इक पल भी मैं ,तुमको क्या संवाद कहूँगा !

तुम्हें भुला न पाता नटवर ,क्या मैं तुमको याद करूँगा  !

 

Advertisements

4 टिप्पणियाँ “क्या मैं तुमको याद करूँगा” पर

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s